तेरी शक्ल जब उसने बनाई, प्यार की ख़ुशबू हवा में आई
झूम उठे सब नशे में पाग़ल, नशे में मैं भी, हो गया पागल
झूमे नशे में चांद और तारे, मेरी तरह तेरे प्यार के मारे
सूरज के दिल में आग हैं तेरी, इश्क़ में तेरे वोह भी जला हैं

Read More

तुम दो कदम, दो साथ अगर
आसान हो जाये सफ़र
छोड़ो भी ये, दुनिया का डर
तोड़ो न दिल यूँ, इनकार से
देखो कभी तो, प्यार से ...
डरते हो क्यूँ, इक़रार से
माना हो तुम, बेहद हंसीं
ऐसे बुरे, हम भी नहीं

Read More

वहाँ जहाँ तू ही मेरा लिबास है
वहाँ जहां तेरी ही बस तलाश है
वहाँ जहां तुझी पे ख़तम आस है
वहीं शुरू वहीँ पे दफ़न जान है

Read More

क्या कभी, बहार भी, पेशगी लाती है
आने वाले पतझर की
बारिशें नाराज़गी भी जता जाती है
कभी कभी अम्बर की..
पत्ते जो शाखों से टूटे बेवजह तो नहीं रूठे हैं सभी
ख्वाबों का झरोखा सच था या धोखा
माथा सहला के निंदिया चुराई
सदियों पुरानी ऐसी इक कहानी रह गयी,
रह गयी अनकही

Read More

વધારે ફોન વાપરવાથી
આંખો બગડે છે,
એટલે હું એક જ ફોન
વાપરું છું !!
??????

चिंतन सारे कर गए हाँ चिंता के मारे
मन की बातें मन में रही न समझे ना सारे
समझो समझो सब करे यह घर बाहर वाले
अंदर गर जो कर
गयो हो
उसको न जाने
चंचल मन अति रैंडम
दे गयो धोखा मचल गयो रे

Read More

कोई नहीं तेरे सिवा मेरा यहाँ
मंज़िलें हैं मेरी तो सब यहाँ
मिटा दे सभी आजा फ़ासले
मैं चाहूँ मुझे मुझसे बाँट ले
ज़रा सा मुझ में तू झाँक ले
मैं हूँ क्या

Read More

तु जिस्मानी चाहता हैं
मैं रूहानी चाहती हूं
तु onliner जैसा प्यार हैं
मैं पूरी कहानी चाहती हूं...
तु बदन पे दाग देके खुश होता हैं
मैं जनम भर की निशानी चाहती हूं
तु जिस्मानी चाहता हैं
मैं रूहानी चाहती हूं...
तु धोखा चाहता हैं
मैं मौक़ा चाहती हूं
तुझे बड़े होने की चाहत हैं...
मैं नादानी चाहती हूं...
तु जिस्मानी चाहता हैं
मैं रूहानी चाहती हूं

Read More

#ConstitutionDay On 11th anniversary of #MumbaiTerrorAttack (26/11/2008) &
completion of 70 yrs of formation of
#ConstitutionofIndia (26/11/1949) celebrated as #LawDay All eyes are open today on #SupremCourt over what Order it passes on Shivsena, NCPspeakes, INCindia claim #WeAre162

Read More

उनसे नज़र मिली बिच बाजार में
दिल गया लूट नज़रो की तकरार में
मुड़ मुड़ के वह देखे मुझे
जैसे की वह खुद भी मचल गए