Bus Namak jyada ho gaya - 4 - last part by Pradeep Shrivastava in Hindi Humour stories PDF

बस नमक ज़्यादा हो गया - 4 - अंतिम भाग

by Pradeep Shrivastava Matrubharti Verified in Hindi Humour stories

बस नमक ज़्यादा हो गया - प्रदीप श्रीवास्तव भाग 4 सादगी से शादी करने के उसके लाख आग्रह के बावजूद उसके मां-बाप बड़े धूमधाम से शादी कराने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाये हुए थे। एक शानदार गेस्ट हाउस ...Read More